Study material 

Child Development and Pedagogy Question for C TET 2019 in Hindi Part – 3

बाल विकास एवं शिक्षाशास्त्र Child Development and Pedagogy Question for C TET 2019 in Hindi Part – 3

इस पोस्ट में माँध्यम से हम आपके लिए आने वाले C TET 2019 परीक्षा के लिए Child Development and Pedagogy Question for C TET 2019 in Hindi Part – 3 लेकर आ रहे है जो आपकी तयारी बहुत मदद करेगा इसमें हमने पिछली परीक्षा में पूछे गए प्रश्नो के साथ नए प्रश्नो को भी शामिल किया है। उम्मीद करते है ये प्रश्न आपको पसंद आएंगे।




बी. एफ. स्‍कीनर के अनुसार बच्‍चों में भाषा का विकास निम्‍नलिखित का परिणाम है

उत्तर – अनुकरण तथा पुनर्बलन

बच्‍चों की शारीरिक वृद्धि की दर अधिकतम होती है

उत्तर– पूर्व बचपन में उत्‍तर बचपन की बजाय

नैतिक मूल्‍यों का विकास किया जा सकता है, यदि अध्‍यापक

उत्तर – स्‍वयं उन पर आचरण करें।

किस अवस्‍था में स्‍व-सम्‍मान की भावना सबसे अधिक पायी जाती है

उत्तर – किशोरावस्‍था

अभिवृद्धि शब्‍द का प्रयोग किया जाता है

उत्तर– बालक के सामाजिक विकास के लिए

व्‍यक्तिगत शिक्षण में निम्‍नलिखित विधि नहीं आती है

उत्तर – सामूहिक शिक्षण

निम्‍न में से व्‍यक्तिगत विभिन्‍नता के प्रकार है

उत्तर – शारीरिक विभिन्‍नता, मानसिक विभिन्‍नता एवं संवेगात्‍मक विभिन्‍नता

कौन-सा अवसर किशोरों की आवश्‍यकता है

–उत्तर – वाद-विवाद, तर्क तथा चर्चा

व्‍यक्तिगत विभिन्‍नता का आधारभूत कारण है

उत्तर– बंशानुक्रम

”ए सर्वे ऑफ दी एजुकेशन ऑफ गिफ्टेड चिल्‍ड्रन” पुस्‍तक के लेखक है

उत्तर– हैविगहर्स्‍ट

मनो‍शारीरिक असमानताओं को कहा जाता है

उत्तर– व्‍यक्तिगत विभिन्‍नता

”मापन किया जाने वाला व्‍यक्तित्‍व का प्रत्‍येक पहलू वैयक्तिक भिन्‍नता का अंश है।” उपर्युक्‍त परिभाषा दी है

उत्तर– स्किनर ने

शारीरिक रूप से व्‍यक्ति के मध्‍य जो भिन्‍नता दिखाई देती है, वह कहलाती है

उत्तर– बाहरी भिन्‍नता

बाह्य रूप से दो व्‍यक्ति एक समान हैं लेकिन वे अन्‍य योग्‍यताओं की दृष्टि से समरूप नहीं है, ऐसी व्‍यक्तिगत विभिन्‍नता कहलाती है

उत्तर– आन्‍तरिक विभिन्‍नता

निम्‍नलिखित में से कथन सही है

उत्तर– दो व्‍यक्ति समान नहीं होते हैं। वैयक्तिक भिन्‍नताओं का मापन सम्‍भव है। बैयक्तिक भिन्‍नता सार्वभौमिक होती है।

लड़के मारपीट, झगड़ा, खेलकूद अधिक पसन्‍द करते हैं, जबकि ल‍ड़कियां वस्‍त्र पहनने, गुडि़या खेलने तथा घरों में काम में ध्‍यान लगाती है, यह विभेद कहलाता है

उत्तर – रुचि सम्‍बन्‍धी भेद

एक बहु-सांस्‍कृतिक कक्षा-कक्ष में एक अध्‍यापिका सुनिश्चित करेगी कि आकलन में निम्‍नलिखित में सम्मिलित हो

उत्तर– अपने विद्यार्थियों की सामाजिक-सांस्कृतिक पृष्‍ठभूमि

व्‍यक्तिगत भिन्‍नता होती है

उत्तर– बौद्धिक, शारीरिक, चारित्रिक




व्‍यक्तिगत विभिन्‍नताओं के आधार पर शिक्षक को सहायता मिलती है

उत्तर– शैक्षिक व व्‍यावसायिक निर्देशन में, छात्रों के वर्गीकरण में, शिक्षण विधि के चयन में

कक्षा में ऊँचा सुनने वाले तथा कमजोर नजर के छात्रों को बैठाना चाहिए

उत्तर– आगे की पंक्ति में

किस आयुकाल में मानसिक विकास अपनी उच्‍चतम सीमा पर पहुँच जाता है

उत्तर– 15-20 वर्ष

‘दो बालकों में समान मानसिक योग्‍यताएं नहीं होती है’ उक्‍त कथन किस मनोवैज्ञानिक का है

उत्तर– हॉरलॉक

किशोर अवस्‍था में सामाजिक विकास पर जिसका प्रभाव नहीं पड़ता,वह निम्‍न में से कौन सी है

उत्तर– असुरक्षा

किशोर अवस्‍था में चरित्र निर्माण प्रक्रियासे जो अवस्‍था संबंधित है, वह निम्‍न में से है

उत्तर– आधारहीन आत्‍मचेतना अवस्‍था

किशोर अवस्‍था की मुख्‍य विशेषता निम्‍न में से है

उत्तर– आत्‍म गौरव

किशोरावस्‍था के आकस्मिक विकास का सिद्धान्‍त कब किसने किया

उत्तर– 1904 में स्‍टेनले हॉल ने

‘सामाजिक एवं संवेगात्‍मक विकास साथ-साथ चलते हैं। यह कथन है

उत्तर– हॉल का

व्‍यक्तिगत भेद पाये जाते हैं

उत्तर– बुद्धि स्‍तर में, अभिवृत्ति में, गतिवाही योग्‍यता में

व्‍यक्तिगत भेद में हम पाते हैं

उत्तर– विचलनशीलता, प्रतिमानता

”स्‍वस्‍थ शरीर में ही स्‍वस्‍थ्‍य मस्तिष्‍क का निर्माण ही शिक्षा है” कथन है

उत्तर– अरस्‍तु




कौन सा व्‍यक्तिगत भिन्‍नताओं का कारण नहीं है

उत्तर– निर्देशन

इस पर अत्‍यधिक वाद-विवाद होता है कि क्‍या लड़कों एवं लड़कियों में योग्‍यताओं का विशिष्‍ट समूह उनके आनुवंशिक घटकों के कारण होता है। इस संदर्भ में निम्‍नलिखित में से आप सबसे अधिक किससे सहमत हैं

उत्तर– लड़कियों को सेवाभाव के लिए सामाजिक रूप से तैयार किया जाता है जबकि लड़कों को रोने जैसा संवेग प्रदर्शित करने के लिए हतोत्‍साहित किया जाता है।

एक उच्‍च प्राथमिक विद्यालय के संरचनात्‍मक कक्षा-कक्ष में अपने स्‍वयं के आंकलन में विद्यार्थियों की भूमिका निम्‍नलिखित में से क्‍या देखा जाएगा

उत्तर– विद्या‍र्थी अध्‍यापक के साथ आंकलन के लिए योजना बनाएँगे।

बालकों में प्रभावी अधिगम हेतु निम्‍नलिखित में से कौन सा विकल्‍प सबसे कम महत्‍तव रखता है

उत्तर– अधिगम का दार्शनिक आधार

‘किशोर प्रौढ़ो को मार्ग में बाधा समझता है, जो उसे अपनी स्‍वतंत्रता का लक्ष्‍य प्राप्‍त करने से रोकते हैं।’ यह कथन किसका है

उत्तर– कॉलसनिक

‘मैं किसी की परवाह नहीं करता’ ऐसी अभिवृत्ति वाले बच्‍चों के व्‍यवहार को क्‍या कहते हैं

उत्तर– अस्‍वीकरण

आप कक्षा-8 के गणित विषय के अध्‍यापक हो। एक बालक आपके विषय में अनुत्‍तीर्ण हो जाता है, आप उसे उत्‍तीर्ण करवाने हेतु क्‍या करोगे

उत्तर– व्‍यक्तिगत निर्देशन एवं परामर्श

समावेशी शिक्षा के पीछे मूलाधार यह है कि

उत्तर– समाज में विभिन्‍नता है और विद्यालयों को विभिन्‍नता के प्रतिसंवेदनशील होने के लिए समावेशी होने की आवश्‍यकता है।

एक बालक अपने विचारों एवं भावनाओं को प्रकट नहीं करता है, वह किस श्रेणी में रखा जाएगा

उत्तर– दमित

आक्रामक बालकों की आक्रामकता को कम करने हेतु आप विद्यालय स्‍तर पर सर्वोच्चित उपाय करेंगे

उत्तर– शक्ति का सदुपयोग

निम्‍नांकित पद्धति व्‍यक्तिगत भेद को ध्‍यान में नहीं रखकर शिक्षण में प्रयुक्‍त की जाती है

उत्तर– व्‍याख्‍यान पद्धति




आपको ये सभी Child Development and Pedagogy Question for C TET 2019 in Hindi Part – 3 पसंद आये होंगे अगर आप और भी इसी तरह के प्रश्न प्राप्त करना चाहते है तो हमारे ब्लॉग पोस्ट को डेली विसिट करते रहिये।

Part – 2 बाल विकास एवं शिक्षाशास्त्र Child Development and Pedagogy for C TET

आप हमे सोशल मीडिया पर भी फॉलो कर सकते है

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Most Popular

To Top